Hindi

कोरोना की महामारी में आरएसएस की भूमिका

इस समय दुनिया के लगभग 199 देशों को कोरोना की महामारी ने जकड़ रखा है | कहते हैं कोरोना वाइरस चीन में चमगादड़ में पाया गया | चमगादड़ की प्रतिरोधक क्षमता मानव से कई गुना ज्यादा होती है इसलिए चमगादड़ पर तो इसका कोई प्रभाव नहीं होता किन्तु मानव में आ जाने के पश्चात आसानी से मानव से मानव में कई गुना तेजी से फैलता है | चीन का वुहान शहर इसकी चपेट में सबसे पहले आया |अब इस वायरस ने अमेरिकी, यूरोपीय एवं एसियायाई देशो को अपनी चपेट में ले लिया है| दुनिया भर में सात लाख से ऊपर लोग इससे संक्रमित हो गए है और 35,000 से ऊपर लोग अपनी जान गवा चुके हैं|

सामाजिक दूरियाँ हैं आवश्यक

आबादी की दृष्टि से चीन के बाद भारत का नंबर आता है | यदि इटली जैसे देश में 11,000 से ऊपर मौतें हो जाए तो अनुमान लगाया जा सकता है कि कोरोना वैश्विक महामारी का भारत पर क्या असर हो सकता है | भारत में चिकित्सा सुविधाए भी विकसित देशों के मुक़ाबले बहुत कम हैं | फिर गाँव में अशिक्षा और सुविधाहीनता बहुत विकराल है | ऐसे में भारत के प्रधानमंत्री मोदी जी ने अपनी सूझबूझ से इस महामारी का बड़ी सूक्षमता से अध्ययन किया | उनकी दृष्टि में कोरोना वैश्विक महामारी का प्रकोप भारत में दूसरी अवस्था में है | अर्थात वह अभी दूसरे देशो से आने वाले लोगों के जरिये भारत में फैला है | तीसरी अवस्था सामुदायिक स्तर पर फैलाव की होती है | अत: नागरिकों के बीच सामाजिक दूरियाँ बना दी जाए तो इस बीमारी को रोका जा सकता है, जिसके लिए उन्होने 21 दिन के लोकडाऊन का मजबूती से ऐलान कर दिया है|

आरएसएस का अतुलनीय सेवा भाव

भारत 130 करोड़ जनता का विविधता वाला देश है | ऐसे कदम से विभिन्न प्रकार के सामाजिक प्रतिरोध और राजनैतिक प्रतिरोध उठना स्वाभाविक हैं | इसके अलावा राज्यों में भी विभिन्न दलों की सरकारें हैं | ऐसे में सरकार की मदद करने वाला एक मात्र संघठन राष्ट्रिय स्वयंसेवक संघ है जिसके करोड़ों स्वंयसेवक हैं और लाखों शाखाएँ हैं | ये लोग पूर्ण निष्ठा के साथ और पूरी प्रतिबद्धता से प्रशासन का सहयोग कर रहे हैं | ये लोग दिहाड़ी के मजदूरों को दिन रात न सिर्फ शुद्ध शाकाहारी भोजन उपलब्ध कराते हैं बल्कि उनके आवास की भी व्यवस्था कराते हैं | यद्यपि सरकार को इस लोकडाऊन की विशाल आर्थिक कीमत चुकानी पड़ रही है लेकिन समाज के गणमान्य लोगों का भी पूरा सहयोग मिल रहा हैं |

समाज  में संकल्प और आत्मानुशासन को बनाए रखने में आरएसएस की अनुकरणीय मदद को नकारा नहीं जा सकता | यदि कोरोना वैश्विक महामारी पर भारत को विजय प्राप्त होती है तो इसका सम्पूर्ण श्रेय मोदी सरकार और आरएसएस को जाएगा|                 

 

Leave a Reply